*मुक्त-मुक्तक : 531 - कर देंगे ख़ूब अच्छा.............


कर देंगे ख़ूब-अच्छा , भरपूर-प्यारा आलम II
है जो अभी बुरा सा दिखता हमारा आलम II
वादे पे उनके ठेका अब दे दिया है देखें ,
रक्खेंगे ज्यों का त्यों या बदलेंगे सारा आलम II
-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

विवाह आभार पत्र

मुक्त ग़ज़ल : 267 - तोप से बंदूक