कर गये जो मृत्यु की............


कर गये जो मृत्यु की गोदी में चिरकालिक शयन ॥
जंगे आज़ादी में जो काम आ गये उनको नमन ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

मुक्त-ग़ज़ल : 262 - पागल सरीखा

मुक्त-ग़ज़ल : 264 - पेचोख़म