*मुक्त-मुक्तक : 211 - सावधानी सावधानी.........

सावधानी सावधानी सावधानी ॥
हर क़दम पर रख मनुज तू सावधानी ॥
ये तेरी बेखौफ़ लापरवाहियाँ ,
छीन न लें खूबसूरत ज़िंदगानी ॥
-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

विवाह आभार पत्र

सिर काटेंगे