माँ जगदम्बे.............

चामुंडा , मनसा , नैना , चिंतापुर्णी ,जगदम्बे ॥
काली ,ज्वालामुखी ,वैष्णो , दुर्गे , चंडी , अम्बे ॥
तेरे नाम अनंत किन्तु मैं जाप करूँगा तब जब ,
कर दोगी मेरे दुःख गज़ भर हैं जो मीलों लंबे ॥
-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

विवाह आभार पत्र

मुक्त ग़ज़ल : 267 - तोप से बंदूक