*मुक्त-मुक्तक : 138 - कितने मुर्दों में...................



कितने मुर्दों में नई 
फूँक जान देते हैं ?
कितने मुफ़लिस को जमा 
धन का दान देते हैं ?
कितने भूखों को 
दिया करते हैं दाना पानी ?
कितने बेघर को 
ठिकानो मकान देने हैं ?
-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

विवाह आभार पत्र

मुक्त ग़ज़ल : 267 - तोप से बंदूक