*मुक्त-मुक्तक : 20 - मुस्कुराने का ..............


मुस्कुराने का अदद फ़न चाहिए ॥ 
ग़म छिपाने एक चिलमन चाहिए ॥ 
दिल अँधेरों में भले डूबा रहे ,
चेहरा रौशन सिर्फ़ रौशन चाहिए ॥ 
-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Comments

Popular posts from this blog

विवाह अभिनंदन पत्र

विवाह आभार पत्र

सिर काटेंगे